आवारा मवेशी  बने  किसानों  व आम जनमानस  के लिये  मुसीबत 

रिपोर्ट : गोपाल द्विवेदी ,रीडर टाइम्स

m.0
हरदोई : किसान की फसल को आवारा जानवर खेतो में चर कर नुकसान पहुँचा रहे है । सारी रात्रि जाग कर भी किसान अपनी फसल को नही बचा पा रहे हैं। महंगे खाद बीज खरीद कर बोई हुयी फसल का नुकसान होते देख किसान सरकार के प्रति आक्रोश प्रकट कर रहा है। कस्बे से लेकर ग्रामीण क्षेत्रो में आवारा गायों के झुण्ड नजर आते है।  हालात ऐसे है कि सड़क और गांव किनारे जिन किसानों के खेत हैं। उन किसानों को पूरे दिन खेत में फसल की रखवाली करनी पड़ रही है।

m

 

रात में भी खेत की मेड़ मे झोपड़ी बना कर बिस्तर डालकर सोना पड़ा रहा है। क्योंकि  समूह में खेतों में घुसने वाले पशु जिस खेत में घुस जाते हैं। उस खेत की पूरी फसल बर्बादकर देते हैं। इसलिए किसान अपनी फसल बर्बाद होने से बचाने के लिए खासा परेशान होना पड़ रहा है।  रात्रि के समय दुर्घटना के लिए सबसे बड़ा कारण होने के बाद भी शासन – प्रशासन ने इस ओर कोई मजबूत कदम नही उठाएं है। किसान द्वारा फसल की सुरक्षा के लिए लगाए कटीले व आरानुमे तार को नजर अंदाज कर जानवरो के झुण्ड के झुण्ड खेत में घुस कर लहू लुहान हो जाते है। रात्रि में जानवरों को भगाते समय किसान भी इन तारो की चपेट में आकर घायल हो जाते है।

क्षेत्र के गांव दौलतयारपुर, रुदामऊ रुइया, सहिजना, फिरोजपुर,बरहस,बघोड़ा निवादा,गब्भी ,सेलापुर, क्योटी,ख्वाजगीपुर, शेखवापुर, सेउढ़ही,लखाही, अटवाअली मर्दनपुर, सोनहार ,शुक्लापुर, भगत आदि गांव के किसान हनीफ, मो इरशाद ,राजाराम, गंगाराम, मुन्ना ,विमल यादव, उमाकान्त, शत्रुघ्नलाल, संदीप वर्मा ,श्रीकृष्ण, शिवराज ,मथुरा प्रसाद, रघुनाथ प्रसाद,अनीस,धनी राम, अमर सिंह आदि किसानों का कहना है कि उन्होंने महंगी खाद , डीजल,  बीज को खरीद कर गेहू की फसल बोई है , लेकिन आवारा जानवर उन फसलों को नष्ट कर रहे है। शासन – प्रशासन द्वारा आवारा जानवरो की रोक थाम के लिए कोई कार्यवाही न किए जाने के कारण फसले बर्बाद हो रही है जिसके कारण किसानों में रोष पनप रहा है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *