चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर अखिलेश को रोके जाने पर मचा सियासी घमासान

0000

लखनऊ : इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) छात्रसंघ के वार्षिकोत्सव के कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर प्रशासन ने रोक लिया । जिला प्रशासन और यूनिवर्सिटी ने पहले ही उनके कार्यक्रम पर रोक लगा दी थी।  वार्षिकोत्सव मंगलवार सुबह 10 बजे होना है। इसमें सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किया गया है। रजिस्ट्रार ने अखिलेश यादव के निजी सचिव को पत्र भेजकर विश्वविद्यालय की एडवाइजरी कमेटी की ओर से दो फरवरी को लिए गए निर्णय से अवगत कराया है। लेकिन समाजवादी छात्रसभा के तमाम छात्रनेता उनके कार्यक्रम को लेकर अड़े हुए हैं वहीं अखिलेश यादव ने भी ट्वीट कर कहा कि ‘एक छात्रनेता के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से सरकार इतनी डरी हुई है कि मुझे लखनऊ हवाई अड्डे पर रोक लिया गया।’

इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) छात्रसंघ के वार्षिकोत्सव में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के शामिल होने के कार्यक्रम पर जिला प्रशासन ने रोक लगा दी है। इविवि प्रशासन ने भी राष्ट्रीय अध्यक्ष के निजी सचिव को पत्र भेजकर कार्यक्रम में शामिल न होने का आग्रह किया है। वहीं, सपाई अखिलेश का कार्यक्रम कराने पर अड़े हैं। अखिलेश इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए निकले थे। वह लखनऊ एयरपोर्ट पर पहुंचे, लेकिन उन्हें प्लेन पर चढ़ने से रोक दिया गया। इस दौरान पुलिस और प्रशासन के अधिकारी एयरपोर्ट पर तैनात रहे और प्लेन के गेट के पास घेरकर खड़े हो गए।

सूत्रों की मानें तो प्रयागराज जिला प्रशासन ने भी अखिलेश यादव के इलाहाबाद यूनिवर्सिटी आने पर रोक लगा दी थी। अपर नगर मैजिस्ट्रेट फर्स्ट की ओर से सोमवार को एक आदेश जारी किया गया था। इस आदेश में कहा गया कि यूनिवर्सिटी की परामर्शदात्री समिति ने 8 फरवरी को निर्णय लिया कि राजनीतिक दलों से संबंधित लोगों को छात्रसंघ के वार्षिकोत्सव समारोह में शामिल होने की अनुमति नहीं दी जा सकती।

पर जैसे ही अखिलेश यादव को चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर रोका गया तो अखिलेश यादव ने ट्वीटर पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कई ट्वीट किये और मौजूदा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ,”  एक छात्र नेता के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से सरकार इतनी डर रही है कि मुझे लखनऊ हवाई-अड्डे पर रोका जा रहा है .

गृह विभाग के निर्देश पर रोका : वैभव मिश्रा एडीएम, लखनऊ पूर्वी

जारी किए गए वीडियो में एडीएम ईस्ट वैभव सिंह, अखिलेश यादव को रोकते दिख रहे हैं। इस दौरान अखिलेश ने एडीएम से कहा- हाथ मत लगाना। इस दौरान सिक्योरिटी ने एडीएम को पीछे करते हुए अखिलेश को सुरक्षा घेरे में ले लिया।

इस मामले पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अखिलेश को अराजकता से बाज आना चाहिए। उन्हें प्रशासन के अनुरोध पर रोका गया है। अगर वह वहां जाते तो हिंसक झड़प हो सकती थी। इसलिए इलाहाबाद विश्वविद्यालय के अनुरोध पर प्रशासन ने ये फैसला लिया है।

अराजकता न फैले, इसलिए अखिलेश को रोका गया
इस मामले में सीएम योगी ने कहा कि प्रयागराज में वर्तमान में कुंभ चल रहा है। दस दिन पहले अखिलेश कुंभ गए थे। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में अराजकता न हो इसलिए अखिलेश को रोका गया है। यूनिवर्सिटी प्रशासन और प्रयागराज जिला प्रशासन ने भी यह मांग की थी। योगी ने कहा कि एसपी अराजकता फैलाने के लिए जानी जाती है, अखिलेश जाते तो इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में बवाल होता। छात्र गुटों में हिंसा की आशंका के चलते भी उन्हें रोका गया है।

 

अखिलेश यादव के रोके जाने पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट करके कहा कि , ” समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव को आज इलाहाबाद नहीं जाने देने कि लिये उन्हें लखनऊ एयरपोर्ट पर ही रोक लेने की घटना अति-निन्दनीय व बीजेपी सरकार की तानाशाही व लोकतंत्र की हत्या की प्रतीक।

एक दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा कि , ” क्या बीजेपी की केन्द्र व राज्य सरकार बीएसपी-सपा गठबंधन से इतनी ज्यादा भयभीत व बौखला गई है कि उन्हें अपनी राजनीतिक गतिविधि व पार्टी प्रोग्राम आदि करने पर भी रोक लगाने पर वह तुल गई है। अति दुर्भाग्यपूण। ऐसी आलोकतंत्रिक कार्रवाईयों का डट कर मुकाबला किया जायेगा।

 




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *