दबंगों ने लिखवाया अनपढ़ की तहरीर में अपने विरोधी का नाम

रिपोर्ट : मंजू गुप्ता ,रीडर टाइम्स

0001manju

सीतापुर : थाना सिधौली के अंतर्गत ग्राम काजी कोला का एक मामला सामने आया है जहां एक व्यक्ति को अनपढ़ होने की भारी कीमत चुकानी पड़ रही है . पीड़ित मेवा लाल पुत्र बिहारी निवासी ग्राम काजी कोला 1 सप्ताह पहले थाना सिधौली में अपनी पुत्री के गायब होने की रिपोर्ट दर्ज कराना चाहते थे . मेवालाल  मोहित के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराना चाहते थे , लेकिन अनपढ़ होने की वजह से वह अपना प्रार्थना पत्र नहीं लिख पा रहे थे . प्रार्थना पत्र लिखवाने के लिए ग्राम बाड़ी के इमरान अली पुत्र इसरार अली और कमर अहमद पुत्र रईस के साथ थाने पहुंचे .

पीड़ित मेवालाल प्रार्थना पत्र मोहित के खिलाफ देना चाहते थे परंतु मेवा लाल के अनपढ़ होने का फायदा उठाते हुए इमरान अली और कमर अहमद ने अपने जमीनी विवाद के विपक्षी पार्टी के सैफ अहमद का नाम और मोटरसाइकिल का नंबर प्रार्थना पत्र में लिखवा दिया. पीड़ित मेवालाल ने वह प्रार्थना पत्र थाने में दे दिया. पुलिस ने प्रार्थना पत्र पर कार्यवाही करते हुए सैफ अहमद पर कार्रवाई की . तब मेवालाल को उनके साथ हुई इस धोखाधड़ी की खबर लगी . मेवालाल तो सैफ अहमद को जानते भी नहीं थे . इमरान अली और कमर अहमद का पुराना जमीनी विवाद सैफ अहमद के साथ चल रहा था इसीलिए रिपोर्ट में मोहित के नाम की जगह सैफ अहमद का नाम लिख दिया .

सैफ अहमद ने अपने ऊपर झूठा मुकदमा लिखवाये जाने पर पुलिस अधीक्षक सीतापुर को प्रार्थना पत्र देते हुए मामले से अवगत कराया है और उचित कार्यवाही करने की प्रार्थना की है .

पीड़ित मेवालाल ने भी एसएसपी सीतापुर को एक प्रार्थना पत्र दिया है. जिसमें उन्होंने कहा है कि इमरान और कमर ने अपने जमीनी विवाद के विपक्षी सैफ अहमद का नाम डाल दिया है लेकिन मैं सैफ अहमद को जानता तक नहीं .

पीड़ित मेवालाल अभी अपनी बेटी के लापता होने के दर्द से उभरे भी नहीं थे और दूसरी समस्या खड़ी हो गई. पहले तो वह अपनी बेटी को ढूंढने के लिए दर-दर भटक रहे थे और अब गलत तहरीर को सही कराने के लिए दौड़ रहे हैं .




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *