खड़े होकर पानी पीने के नुकसान एवं फायदे

khali-pet-pani-pine-ke-fayde-in-hindi-1

प्यास हम सभी को लगती है, खाना खाने के बाद या उससे पहले, आज मुद्दा ये नहीं कि पानी कितना पीना चाहिए, बल्कि ये है कि इसे खड़े होकर पीना चाहिए या बैठकर, अगर खड़े होकर पानी पी रहे हैं, तो इसके नुकसान क्या हैं, बैठेकर पी रहे हैं तो फायदे क्या हैं. पहले आपको बताते हैं पानी पूरे दिन में कितना पीना चाहिए | पानी पीना एक अच्छी आदत होती है, इससे कई रोग दूर होते हैं ,पानी पीने से शरीर से टॉक्सिन्स बाहर निकलते हैं, और इंफ्लेमेशन, गंदे वायरस शरीर में नहीं रुकते , मौसम में बदलाव आने से सर्दी-जुकाम की समस्या को भी पानी ही दूर करता है , रोज दो से ढ़ाई लीटर पानी पीना आपकी सेहत के लिए आवश्यक है | खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीने से पाचन क्रिया पर बुरा प्रभाव पड़ता है , खाना खाने के आधे से एक घंटे तक पानी नहीं पीना चाहिए, पाचन क्रिया कमजोर होती है और ये सेहत के लिए नुकसानदेह होता है | खाने के तुरंत बाद पानी पीने से पेट में भोजन के साथ गैस्ट्रिक जूस बनने लगता है, जिससे पेट और सीने में जलन के अलावा खाना ठीक से पच नहीं पाता है | वहीं अगर तीखा खाना खा रहे हैं तो घूंट-घूंटकर पानी पिएं , एक साथ ढेर सारा पानी पीने से खाना पचने में दिक्कत हो सकती है |

खड़े होकर पानी पीने के नुकसान

खड़े होकर पानी पीने के कई नुकसान होते हैं, जिनमें से एक है किडनी की बीमारी ,और दूसरी अर्थराइटिस की समस्या, हालांकि इसके और भी कई नुकसान है जिन्हें विस्तार से नीचे बताया है. सबसे पहले है-

पेट की बीमारी

खड़े होकर पानी पीने से तेजी से पानी फूड पाइप द्वारा पेट में जाता है , ये आसपास के अंगों और पेट को नुकसान पहुंचाता है , पाचन क्रिया को बिगाड़ता है |

किडनी से जुड़ी समस्या-

किडनी का काम पानी को सही ढंग से छानना होता है, जब खड़े होकर पानी पीते हैं, तो ये अपना कार्य ठीक तरह से नहीं कर पाती है इसी कारणवश, पानी सही तरह से छनता नहीं है, यूरीन साफ नहीं आता और गंदगी किडनी में ही रुक जाती है. इसके चलते किडनी की समस्या, यूरीन में इंफेक्शन और जलन महसूस होती है |

बैठकर पानी पीने के फायदे

– बैठकर पानी पीने से पानी सही तरीके से पचता है, और सेल्स तक पहुंचता है, जितने पानी की शरीर को जरूरत होती है उसे सोखकर बाकी का पानी यूरीन के जरिए शरीर से बाहर निकलता है. इसमें शरीर के टॉक्सिन्स भी शामिल रहते हैं |

– गरम पानी पीने से अतिरिक्त चर्बी नहीं बनती और वजन घटता है |
– पानी, खून में हानिकारक तत्वों को घुलने नहीं देता. उल्टा ये खून साफ करता है. घूंट-घूंटकर जब पानी पीते हैं, तो इससे पेट में एसिड का स्तर नहीं बढ़ता , बल्कि खराब एसिड शरीर से बाहर निकलता है.




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *