डायबिटीज के मरीज चीनी की मिठाइयों से रहें दूर ,रखें विशेष ध्यान

त्योहार पर मधुमेह के मरीजों को मन मसोस कर रह जाना पड़ता है। वे चाहते हैं कि थोड़ी सी मिठाई का सेवन कर लें, लेकिन परिजन टोकते रहते हैं। ऐसे में परिजनों को भी ध्यान देना चाहिए। मधुमेह के मरीजों के लिए नेचुरल चीनी का प्रयोग करें।

मधुमेह पीड़ित को भी इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वह खाई गई मिठाई को पचाने के लिए शारीरिक श्रम जरूर करे। आमतौर पर जितना पैदल चलते हैं, मिठाई खाने के बाद उसे बढ़ा दें। यह कहना है केजीएमयू की सीनियर डायटीशियन दीप्ति रावत का।

उन्होंने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की सिफारिश है कि चीनी मुक्त खाद्य को कुल कैलोरी का 10 प्रतिशत से भी कम होना चाहिए, जिससे जीवन में डायबिटीज जैसी बीमारियों के खतरे को कम किया जा सके।

जीवनशैली की वजह से आने वाली बीमारियों का सीधा संबंध हमारे खानपान से होता है। जानकारी के अभाव में लोग पोषण पर ध्यान नहीं देते हैं, जो भी मिला खा लिया। कभी चीनी ज्यादा खाई तो कभी वसा की मात्रा बढ़ गई। आमतौर पर लोग इसे नजरअंदाज करते रहते हैं।

यदि खानपान पर नियंत्रण रखा जाए तो कई बीमारियां नजदीक नहीं आती हैं, लेकिन दूसरी बढ़ी चुनौती होती है कि बीमारी होने के बाद उसे नियंत्रित करना। इस चुनौती में नेचुरल चीनी का इस्तेमाल किया जा सकता है।

इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता है। आमतौर पर लोग कहते हैं नेचुरल चीनी में स्वाद वैसा नहीं है। इस बात पर जाने माने सेफ संजीव कपूर ने भी सहमति जताई है, लेकिन दो तीन हफ्ते तक इसका प्रयोग किया जाए तो स्वाद आ जाता है।

घर की मिठाई का सेवन करना फायदेमंद

त्योहार पर बाजार के बजाय घर में बनी मिठाई का सेवन करना फायदेमंद रहता है। मधुमेह से ग्रसित व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं अथवा शुगर के बॉर्डर लाइन पर पहुंच चुके लोग घर में बनी मिठाई का सेवन करें।

इसके लिए नेचुरल चीनी के साथ फ्रूट को मिलाकर मिठाई बना सकते हैं। शहद का भी प्रयोग कर सकते हैं। मधुमेह के मरीज इस बात का ध्यान रखें कि वे इसका प्रयोग सिर्फ स्वाद के लिए करें।

गर्भावस्था महिलाये को ध्यान देने की जरूरत

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में कई तरह से बदलाव आते हैं। जो महिलाएं मधुमेह से ग्रसित हैं। उन्हें खानपान का विशेष तौर से ध्यान रखना पड़ता है। इस अवस्था में परहेज वाली चीजों को खाने का ज्यादा मन करता है।

इसका विकल्प फ्री शुगर है जो मिठास से समझौता किए बिना कुल कैलोरी आहार को कम करता है। इसे खीर अथवा अन्य चीजों में प्रयोग किया जा सकता है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *