राजस्थान विधानसभा चुनाव : अशोक गहलोत और सचिन पायलट मुख्यमंत्री पद के लिए कर रहे खींचातानी

rahul ghandhi

नई दिल्ली :- क्या लगता है, राजस्थान का मुख्यमंत्री कौन बनेगा ”अशोक गहलोत या सचिन पायलट”? कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजस्थान और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्रियों पर फैसला शुक्रवार के लिए टाल दिया है, क्योंकि वह इस विषय पर पार्टी नेताओं से चर्चा करना चाहते हैं | कांग्रेस सूत्रों ने गुरुवार देर रात यह जानकारी दी, कांग्रेस अध्यक्ष ने राजस्थान के मुख्यमंत्री पद के दावेदारों अशोक गहलोत और सचिन पायलट के साथ कई बैठकें कीं, लेकिन अभी कोई मसला नहीं निकला है |

 

 

बता दें कि पायलट ने राजस्थान में मुख्यमंत्री पद के लिए दावा किया है | राहुल गांधी के निवास के बाहर पायलट के समर्थकों ने उनके समर्थन में नारे भी लगाए | राहुल गांधी ने देर शाम पार्टी के केंद्रीय पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ बैठक की, खड़गे ने कहा कि अंतिम निर्णय पर पहुंचने से पहले शुक्रवार को प्रदेश नेताओं के साथ बैठक होगी | राहुल की दोनों नेताओं से दो घंटे से ज्यादा बात हुई है। इस दौरान पायलट और गहलौत दोनों मौजूद रहे।

 

 

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस पार्टी राजस्थान में सरकार बनने पर दो बार के मुख्यमंत्री रहे अशोक गहलोत पर दांव लगाने जा रही थी, काफी कुछ तय हो गया था, लेकिन आखिरी मौके पर पायलट समर्थकों ने राहुल के सामने ऐसी तस्वीर पेश की, जिसके बाद पेंच और फंस गया |

 

 

सचिन पायलट की दावा
साल 2013 में बीजेपी के हाथों करारी हार के बाद सचिन पायलट को राजस्थान की कमान दी गई थी | इस चुनाव में कांग्रेस महज 21 सीटों पर सिमट गई थी | इसके बाद विपक्ष में रहते हुए सचिन पायलट ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर अपनी टीम बनाने के साथ सरकार को लगातार घेरा |

 

 

अशोक गहलोत की दावा
कांग्रेस के संगठन महासचिव अशोक गहलोत कांग्रेस की केंद्रीय राजनीति के साथ साथ राजस्थान में भी लगातार सक्रिय हैं | विधानसभा चुनावों में गहलोत लगातार स्टार प्रचारक के तौर पर पूरे प्रदेश में प्रचार किया | गुजरात और कर्नाटक के चुनावों में गहलोत की सक्रियता राजनीतिक हलकों में चर्चा में रही थी | अशेक गहलोत आज राजस्थान के साथ साथ कांग्रेस की केंद्रीय राजनीति का बड़ा चेहरा हैं |




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *