चेकिंग के दौरान पकड़े गए तीन अपराधी , 4 मोटर साईकिल ,1 स्कूटी ,2 तमंचा ,3 जिन्दा कारतूस बरामद

रिपोर्ट : सलमान खान ,रीडर टाइम्स

लखनऊ : मड़ियांव थाने की पुलिस को उस वक्त एक और बड़ी सफलता मिली जब चेकिंग के दौरान अलग – अलग स्थानों से मड़ियांव पुलिस द्वारा 3 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया . पुलिस द्वारा चलाये जा रहे अपराध रोकथाम व चेकिंग अभियान के दौरान आज मड़ियांव थाने की पुलिस द्वारा तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया गया . इन अपराधियों को अलग अलग जगह से पकड़ा गया है. पंकज रावत पुत्र केशव राम रावत निवासी नौअन पुरवा थाना सकरन जिला सीतापुर का रहने वाला है . संजय उर्फ़ विनोद पुत्र डल्ला सिंह मूल पता मंडौर थाना सकरन जिला सीतापुर का निवासी है. राजकुमार उर्फ संजय पुत्र कमलेश कुमार निवासी अतरौली बस स्टैंड के पीछे थाना अतरौली हरदोई से है . पंकज रावत को पुलिस ने चेकिंग के लिए रोका तो कोई भी कागज नहीं थे . पूछताछ के दौरान उसने बताया कि यह गाड़ी स्प्लेंडर पॉलिटेक्निक चौराहे के पास से लगभग एक हफ्ते पहले चोरी की थी . गाड़ी के अलावा एक तमंचा 315 बोर, एक जिंदा व एक खोखा कारतूस 315 बोर पुलिस ने बरामद किया . आरोपी संजय उर्फ विनोद और राजकुमार उर्फ संजय के पास से गाड़ी बजाज कावासाकी भी चोरी की थी . संदेह होने पर पुलिस ने पूछताछ की तब इसका खुलासा हुआ बजाज कावासाकी गाड़ी के अलावा एक 315 बोर , दो जिंदा कारतूस , 315 बोर भी पुलिस ने बरामद किए . पूछताछ के दौरान आरोपियों ने दो और मोटर साइकिल और एक स्कूटी की चोरी को कुबूल किया . आरोपियों की निशान देही पर दाउदनगर के पास से इन गाड़ियों को बरामद किया गया . अभियुक्तों ने इलाके में हुई चोरियों की घटनाओं के बारे में भी बताया . जिससे इलाके में हुई इस तरह की और घटनाओं का खुलासा भी हुआ . अभियुक्त आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्ति हैं और पहले भी जेल जा चुके हैं.

बरामद की गई गाड़ियों का विवरण इस प्रकार है
UP 32 AL 66 44 कावासाकी बजाज
UP 32 CQ 6971 हीरो होंडा अचीवर
UP 32 DH 8892 बजाज डिस्कवर
UP 32 HZ 2378 हीरो होंडा स्प्लेंडर
TVS UP 32 FB 5472

इन अपराधियों को पकड़ने में उ. नि. धर्मेंद्र सिंह चौहान ,उ. नि. संजय मिश्रा , उ. नि. जफर मेहंदी , उ. नि. विनीत कुमार यादव , हे. का. करतार सिंह , हे. का. योगेंद्र कुमार , हे. का. हलीम बाबू , कांस्टेबल राजेंद्र सिंह , कॉन्स्टेबल विश्वजीत सिंह ,कांस्टेबल अरविंद सिरोही , कांस्टेबल ललित कुमार शामिल थे . पुलिस ने सूझबूझ से जिस तरह इन अपराधियों को पकड़ा वह सराहनीय है . क्योंकि पकड़े गए अपराधी पहले भी ऐसी वारदातों को अंजाम दे चुके हैं और इनके पकड़े जाने से और भी अपराधी घटनाओं के राज खुलेंगे .




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *