मड़ियांव पुलिस ने ब्लाइंड मर्डर का 3 दिन में किया खुलासा

अवैध संबंधों के चलते प्रदीप पाल को उतारा गया था मौत के घाट।
सड़क किनारे मिला था रहस्यमय हालत में मृतक का शव।
आरोपी अनुराग पाल ने मृतक को पहले पिलाई थी दारू उसके बाद में की थी हत्या।
पुलिस ने घटना में इस्तेमाल किया हुआ गमछा, मोटरसाइकिल व दो मोबाइल फोन किया बरामद

रिपोर्ट : मो .रशीद , रीडर टाइम्स

लखनऊ :  3 दिन पहले दिनांक 16 /09 /2019 को उमरभारी ,मड़ियांव क्षेत्र में एक अज्ञात व्यक्ति का शव मिला था . शव को मड़ियांव पुलिस ने पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था . शव के पास मिली मोटर साइकिल पैशन प्रो के रजिस्ट्रेशन नंबर UP 32 FF 3469 से मृतक की पहचान की जा सकी थी . और परिजनों को सूचना दी गई थी .

मृतक की पहचान प्रदीप पाल पुत्र परशुराम पाल निवासी रहीमनगर डिडौली थाना मड़ियांव के रूप में हुई थी . मृतक के पिता श्री परशुराम पाल ने अज्ञात के खिलाफ मड़ियांव थाने में मु.अ.सं . 867 /19 धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कराया था . सर्विलांस और अन्य सूचनाओं के आधार पर अनुराग पाल नाम के व्यक्ति का लिंक सामने आया . जिसकी गिरफ़्तारी पुलिस ने आज कर ली .

आरोपी ने पुलिस पूछताछ में बताया कि वह करीब ढाई साल पहले मृतक प्रदीप पाल के घर में किराये से अपनी पत्नी के साथ रहता था .तभी उसे अपनी पत्नी और मृतक प्रदीप के अवैध सम्बन्ध होने का शक हुआ . इसकी जानकारी होने के बाद आरोपी अनुराग पाल  ने प्रदीप का घर छोड़ दिया और सेमरा गौढ़ी में किराये पर कमरा लेकर रहने लगा . लेकिन घर छोड़ने के बाद भी प्रदीप अनुराग पाल की बीबी के संपर्क में था और फ़ोन किया करता था . प्रदीप पाल इंद्रानगर में केंट आर ओ में नौकरी करता था .

15 /09 /19 को प्रदीप ने फिर से अनुराग पाल की बीबी को कॉल की लेकिन फोन अनुराग पाल के पास था और उसने काल रिसीव की . शराब पीने के लिए इंजीनियर कॉलेज पर बुलाया , शराब लेकर दोनों आई आई एम रोड से होते हुए उमरभारी गांव में सन्नाटी जगह पर जाकर दोनों ने शराब पी. आरोपी अनुराग पाल ने मृतक प्रदीप को ज्यादा शराब पिलाई ताकि प्रदीप ज्यादा नशे में हो जाये और अनुराग पाल उसे आसानी से मार सके . आरोपी अनुराग ने अपने गमछे से प्रदीप का गला घोट दिया . जिससे प्रदीप की मौत हो गई . पुलिस ने कार्यवाही करते हुए अभियुक्त को जेल भेज दिया है .




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *