वायु प्रदूषण देश में सबसे ज्यादा जहरीली हवा वाले 10 में से सात शहर यूपी के

लखनऊ : देश में सबसे जहरीली हवा वाले 10 शहरों में यूपी के 7 शहर शामिल हैं। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की बुधवार को गाजियाबाद की हवा सबसे जहरीली थी जबकि ग्रेटर नोएडा, कानपुर, मेरठ, बागपत, नोएडा, लखनऊ की वायु गुणवत्ता बहुत खराब आंकी गई है।

आशंका जताई गई है कि तापमान में गिरावट के साथ यह स्थिति और भी भयावह हो सकती है। सुप्रीम कोर्ट और राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) के सख्त आदेशों के बावजूद स्थिति नहीं सुधरी। यह स्थिति तब है, जब दिल्ली टॉप-10 प्रदूषित शहरों से बाहर है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार शाम 7 बजे लखनऊ का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) भी 312 पर पहुंच गया। इससे लखनऊ शहर भी बहुत खराब वाली स्थिति में आ गया।

प्रदेश के कार्यवाहक मुख्य सचिव आरके तिवारी ने मंगलवार को भी संबंधित अधिकारियों को वायु प्रदूषण के लिए बताए गए उपायों पर सख्ती से अमल करने के लिए कहा था। नासा की बुधवार को जारी रिपोर्ट बताती है कि पराली जलाने की घटनाओं में यूपी में कमी आई है।

इसके बावजूद स्थिति में सुधार न आने का मतलब है कि वायु प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए बताए गए अन्य उपायों पर अमल नहीं हो रहा है। निर्माण कार्यों और ट्रैफिक के जरिए होने वाले प्रदूषण पर अंकुश नहीं लग पा रहा है।

इस बारे में बात किए जाने पर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव आशीष तिवारी ने बताया कि पिछले 24 घंटे की स्थिति देखें तो देश में बहुत खराब स्थिति वाले देश के 16 शहरों में 8 शहर यूपी के हैं। इनका एयर क्वालिटी इंडेक्स 300-400 के बीच है, जबकि पिछले दिनों कई शहरों का एक्यूआई अत्यधिक खराब (400 -500) और अत्यधिक-अत्यधिक खराब (500 से ऊपर) रहा है।

नासा की रिपोर्ट के हवाले से उन्होंने कहा कि पंजाब में पराली जलाए जाने की घटनाएं कम नहीं हो रही हैं। पराली जलाने के साथ ही उत्तर-पश्चिम दिशा की हवाएं चलने पर आगरा के पश्चिमी हिस्से से लेकर लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, एनसीआर से लगे शहरों और बिहार के पटना व मुजफ्फरनगर तक वायु प्रदूषण बढ़ता है।

मौसम विभाग ने भी कहा है कि अगले दो दिन तापमान गिरने के साथ ही स्थिति और भी खराब हो सकती है। उन्होंने कहा कि यूपी में प्रदूषण नियंत्रण के लिए लगातार शासन स्तर से भी समीक्षा बैठकें हो रही हैं। निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जा रहा है।

गाजियाबाद(यूपी) 353 बहुत खराब
ग्रेटर नोएडा (यूपी) 338 बहुत खराब
कानपुर (यूपी) 335 बहुत खराब
पानीपत (हरियाणा) 331 बहुत खराब
मेरठ (यूपी) 330 बहुत खराब
बागपत(यूपी) 328 बहुत खराब
यमुनानगर (हरियाणा) 321 बहुत खराब
नोएडा (यूपी) 318 बहुत खराब
लखनऊ (यूपी) 312 बहुत खराब
भिवाड़ी (राजस्थान) 302 बहुत खराब




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *