सुस्पष्ट जवाब देही और पारदर्शिता की सामाजिक आंकिक प्रक्षेपण करें ऑडिट कर्मी : इंद्र भूषण सिंह

जिला सोशल ऑडिट की एंट्री कॉन्फ्रेंस की बैठक संपन्न
ग्राम विकास अधिकारी और रोजगार सेवक अभिलेख देना सुनिश्चित करें वरना होगी कार्यवाही- जिला विकास अधिकारी

रिपोर्ट : गोपाल द्विवेदी ,रीडर टाइम्स
हरदोई :  विकास भवन सभागार में जिला सोशल ऑडिट की एंटी कॉन्फ्रेंस की बैठक जिला विकास अधिकारी राजित राम मिश्रा की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें रोजगार सेवक ,ग्राम विकास अधिकारी ,तकनीकी सहायक, ब्लॉक संसाधन व्यक्ति और ब्लॉक सोशल ऑडिट कोऑर्डिनेटर सम्मिलित हुए। एंट्री कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए जिला विकास अधिकारी राजित राम मिश्रा ने कहा कि यह पारदर्शिता और जवाबदेही की प्रक्रिया है जिसे आप लोगों के माध्यम से इससे और पारदर्शी बनाना है।

श्री मिश्र ने कहा कि ऐसी सूचनाएं मिल रही है कि बीआरपी एवं बीसैक को अभिलेख प्रस्तुत नहीं किए जा रहे हैं। जो सर्वथा गलत है और इस पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। उन्हें पहले दिन ही रोजगार सेवक अभिलेख दे दे,यदि इस प्रकार की कोई सूचना आती है कि अभिलेख नहीं दिए गए हैं तो उन पर कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। जिला सोशल ऑडिट कोऑर्डिनेटर इंद्र भूषण सिंह ने बताया कि प्रारूप एवं सूचना जिला विकास कार्यालय को आदि प्रक्रिया प्रारंभ होने के पूर्व उपलब्ध कराई जाए, यही नहीं, योजना में कराए गए कार्यों से संबंधित अभिलेखों की हस्ताक्षरित प्रतियां सोशल ऑडिट टीम को अनिवार्यता उपलब्ध कराई जाएं। ग्राम सभा बैठक में कार्रवाई संस्था के जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी द्वारा प्रतिभाग किया जाए।उनमें से ग्राम प्रधान ,पंचायत सचिव, रोजगार सेवक, तकनीकी सहायक, जिससे कराए गए कार्यों के संबंध में संस्था का प्रतिनिधित्व करते हुए ग्राम सभा के समक्ष उनका पक्ष स्पष्ट रूप से रखा जा सके।श्री सिंह ने कहा कि ग्राम पंचायत द्वारा सात रजिस्टर की प्रतियां प्रमाणित करते हुए टीम को अनिवार्य उपलब्ध कराई जाएं।

श्री मिश्र ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2019- 20 में निदेशालय द्वारा निर्गत कैलेंडर के अनुसार, ग्राम पंचायतों में वर्ष 2018-19 में महात्मा गांधी नरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना के ग्रामीण अंतर्गत कराए गए कार्यो की सोशल ऑडिट हेतु कार्यदाई संस्थाओं ब्लॉक सोशल कोऑर्डिनेटर, ब्लॉक संसाधन व्यक्ति ,सोशल ऑडिट टीम तथा अन्य संबंधित कर्मचारियों द्वारा अनिवार्यता निम्न प्रक्रिया का पालन सुनिश्चित किया जाए, जिससे पारदर्शी एवं जन सहभागिता की सोशल ऑडिट पूर्णता संपन्न कराया जा सके। एंट्री कॉन्फ्रेंस में ब्लॉक संसाधन व्यक्ति, सोशल ऑडिट टीम, ब्लॉक सोशल ऑडिट, तकनीकी सहायक, रोजगार सेवक, पंचायत मित्रों, ग्राम विकास अधिकारी, समेत कई लोग उपस्थित रहे।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *