सॉफ्टवेयर इंजीनियर पर पहले गिरा ‘अवैध’ बैनर,टैंकर से टकरा कर हुई मौत


तमिलनाडु: चेन्नई दक्षिण में गुरुवार को एक 23  साल की सॉफ्टवेयर इंजीनियर की  मौत हो गई  मृतका का नाम सुभाश्री है। अवैध’ बैनर गिरा और वो टैंकर से टकरा गई और इस घटना के होते ही उनकी मौके पर ही मौत हो गई । उन्हें अस्पताल ले जाया गया , लेकिन डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया ।

सुभाश्री एक आईटी कंपनी में कार्यरत थी  । घटना पल्लावरम-थोराईपक्कम रेडियल रोड पर हुई थी । मृत अपने दो पहिया वाहन को चला रही थी । तभी अचानक उनके ऊपर एक होर्डिंग गिर गया   । होर्डिंग के गिरते ही वह एक टैंकर से टकरा गई और उनके सर पर चोट लग गई । शभाश्री अपने ऑफिस से घर जा रही थी ।

मद्रास उच्च न्यायालय ,अवैध होर्डिंग के खिलाफ कई बार आदेश पारित करके थक चुका

लोगो का कहना है की  शभाश्री  ने अपने सर पर हेलमेट लगा रखा था । इस घटना से मद्रास उच्च न्यायालय ने स्वत: संज्ञान लेते हुए कहा कि वह अवैध होर्डिंग के खिलाफ कई बार आदेश पारित करके थक चुका है । उच्चा  न्यायमूर्ति शेषासई का कहना है कि इस देश में लोगों की जान की कोई परवाह नहीं है। यहाँ सभी लोग कार्यरत नौकरशाही की उदासीनता है।

उनका कहना है की सरकार पर से लोगो का भरोसा  नहीं है  । इस होर्डिंग में  राज्य  मुख्यमंत्री की तस्वीरें लगी हुई है ।जैसे की  मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी और उप-मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम और पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता , जिसे किए सत्तासीन एआईएडीएमके के स्थानीय नेता ने लगाया था।

स्थानीय नेता का नाम सी जयगोपाल है।  इस नेता ने अपनी परिवार की शादी के लिए ये अवैध होर्डिंग  चौराहे पर लगवा रखा था इस शादी में  शिरकत करने के लिए पनीरसेल्वम या पलानीस्वामी आने वाले थे ।

प्रशासन द्वारा सील की गई होर्डिंग छापने वाली प्रेस

चेन्नई दक्षिण क्षेत्र  की   संयुक्त पुलिस आयुक्त सी माहेश्वरी का कहना है  ‘होर्डिंग्स अनधिकृत हैं। हम उन लोगो के खिलाफ कार्रवाई  करेंगे । टैंकर के ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया । होर्डिंग को छापने वाले प्रेस को सील कर दिया है।

इस घटना के बाद विपक्ष राज्य के विपक्षी को सरकार पर हमला बोलने का पूरा मौका मिल गया । ‘सुभाश्री की मौत सरकार की लापरवाही और अक्षम पुलिस अधिकारियों के कारण हुई है। अवैध बैनर ने ‘सुभाश्री की भी  जिंदगी ले ली। सत्ता के भूके अब और कितनी जिंदगी लेंगे ।

डीएमके विधायक ने पूछा कौन  है इस मौत का जिम्मेदार

डीएमके के विधायक ई करुणानिधि ने पूछा इस ‘सुभाश्री की मौत का कौन है जिम्मेदार ।  बैनर को सत्तासीन पार्टी ने चौराहे पर लगाया था। पार्टी इस बात की वकालत कर रही की बैनर संस्कृति को ही ख़त्म कर दिया जाये । सुभाश्री की मौत का जिम्मेदार कौन है? मृतक के परिवार के लोगो को मुआवजा दिया जाना चाहिए ।’

एआईएडीएमके ने कैडरों से की अपील बैनर न लगवाए

एआईएडीएमके ने अपने  कैडरों से कहा की अब ऐसे बैनर या पोस्टर चौराहो पर नहीं लगाए जाने चाहिए । इन पोस्टर और बैनर से जनता को काफी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है इसलिए किसी भी  चौराहे पर ये बैनर नहीं लगाए जाये ।’ ये अपील  एआईएडीएमके ने अपने  कैडरों से की है ।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *