UPTET परीक्षा के पंजीकरण हुए समाप्त

students-11111111111111-1473230812_835x547

उत्तर प्रदेश शिक्षक ,पात्रता परीक्षा (UPTET 2018) में 2277559 अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया है ,जबकि 131201 अंतिम रूप से फार्म जमा कर चुके थे, यह संख्या अब तक की सभी परीक्षाओं में सर्वाधिक है आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इतने अभ्यार्थियों के नतीजे महज 16 दिन में जारी किए जाएंगे। ऐसे में इतने कम समय में परिणाम देना परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। यूपी में 13 नवंबर 2011 को पहली बार आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) का परिणाम महज 11 दिन में घोषित हो गया था पहली बार यूपी बोर्ड ने परीक्षा कराई थी, 25 नवंबर 2011 को परिणाम घोषित हुआ, लेकिन उसके बाद जो बवाल शुरू हुआ तो तत्कालीन निदेशक संजय मोहन की गिरफ्तारी तक हो गई। यही कारण है कि टीईटी का परिणाम घोषित करने के लिए सिर्फ 16 दिन का समय मिला है। इस डिग्री को कक्षा एक से पांच तक के बच्चों को पढ़ाने के लिए अर्ह माना गया है ,बीएड विशेष शिक्षा को बीएड सामान्य डिग्री के समकक्ष माना गया है, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने 28 जून 2018 के विज्ञापन से केवल बीएड डिग्री वालों को ही अर्ह माना है, बीएड विशेष शिक्षा डिग्री धारकों को यूपी टीईटी में बैठने की अनुमति नहीं दी जा रही है। वैध डिग्री होने के बावजूद उन्हें टीईटी में बैठने से रोकना गलत है।

यूपीटीईटी में सभी प्रश्न एक सही उत्तर के साथ चार विकल्प वाले बहुविक्लपीय प्रश्न होंगे, हर प्रश्न पर एक अंक होगा , नकारात्मक मूल्याकंन नहीं होगा।

पहला प्रश्न पत्र ऐसे व्यक्तियों के लिए होगा जो क्लास 1-5 तक के शिक्षक बनना चाहते हैं। (प्राथमिक स्तर)
दूसरा प्रश्न पत्र ऐसे व्यक्तियों के लिए होगा जो क्लास 6-8 तक के शिक्षक बनना चाहते हैं। ( उच्च प्राथमिक स्तर)

जो दोनों स्तर क्लास 1-5 तक और क्लास 6-8 के लिए शिक्षक बनना चाहते है, उन्हें दोनों पेपरों में शामिल होना होगा।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *